खेल विधि (Playway Method)

खेल विधि (Playway Method) क्या है ? खेल विधि (Playway Method)

खेल विधि के जन्मदाता फ्रोबेल (Frobel ) को माना जाता है । परंतु वर्तमान में हेनरी कोल्डवेल कुक (Henry Cold WellCook ) खेल विधि का सर्वाधिक प्रयोग व विकास किया है। हेनरी कोल्ड वेल कुक ने खेल विधि की उपयोगिता अंग्रेजी शिक्षण हेतु अधिक बताई है ।उन्होंने ही पहली बार खेल विधि शब्द का नाम लिया था । उनके अनुसार जब बालक किसी भी कार्य को अंत अभिप्रेरित हो कर स्वाभाविक वातावरण में बिना किसी तनाव के संपूर्ण करता है तो उसे खेल विधि द्वारा सीखना कहते है । खेल विधि का भाव मुसीबत तथा आंसुओं के बिना शिक्षा है। जिस प्रकार मछली का संबंध जल के साथ है ठीक उसी प्रकार खेल का संबंध बालक से होता है खेल बालक के लिए एक अनिवार्य क्रिया होती है।

खेल विधि से संबंधित प्रमुख शिक्षा शास्त्री निम्नलिखित हैं :-

• फ्रोबेल
• मांटेसरी
• पियाजे
• पेस्टोलोजी
• हेनरी कोल्ड वेल कुक

खेल विधि पर आधारित पाठ्यक्रम सहगामी क्रियाएं (Co-Curriculur Activities Based on Play Way Method )

• छात्र स्वशासन (Students self Discipline )
• स्काउटिंग (Scouting )
• गर्ल गाइडिंग (Girl Guiding )
• विद्यालय उत्सव (School Festival)
• शैक्षिक पर्यटन ( SCHOOL TRIP)
• एनसीसी (NCC)
• कार्ड बोर्ड गेम्स (CARD BOARD GAME)
• नाटक, सामूहिक गान तथा बौद्धिक खेल ( wisdom game)

खेल विधि के सिद्धांत (Principal of Playway Method )

• TP NUNN के अनुसार “ शिक्षणसूक्ष्म शिक्षण क्या है? (Micro Teaching) की परंपरा गतिविधियों को नई दिशा प्रदान की जाए”।
• शिक्षक और अभिभावक के बीच प्राचीन निरंकुश दृष्टिकोण को बदला जाए।
• बालकों को उसकी रूचिओ एवं क्षमता के अनुसार ज्ञान दिया जाए।
• शिक्षक कक्षा मे ऐसा वातावरण उतपन्न करें कि बालकों में विज्ञान और कला के प्रति रुचि उत्पन्न हो सके।
• बालकों को उनकी रूचियों के अनुसार व उनके मानसिक स्तर के अनुसार खेल खिलाने चाहिए।
• बालकों को हस्तकला , बागवानी, अभिनय , संगीत आदि के द्वारा ज्ञान प्रदान कर उनकी रचनात्मक शक्ति का विकास किया जाना चाहिए।

खेल विधि के जन्मदाता कौन है ? खेल विधि के पिता कौन है ?

1 thought on “खेल विधि (Playway Method)”

  1. Pingback: शैक्षिक पर्यटन विधि (Educational Excursion or Field Trips) - CTETPoint

Comments are closed.