What is Speach Disorder in children?

भाषा विकार या स्पीच डिसऑर्डर से क्या अभिप्राय है?
शब्दों के उच्चारण में होने वाले गंभीर दोष को भाषा विकार ( स्पीच डिसऑर्डर )कहा जाता है l
मनोवैज्ञानिकों ने वाक्य विकार को अपर्याप्त समायोजन का एक लक्षण माना हैl (What is Speach Disorder in children?) We will discussed this topic below

यह आर्टिकल ctet एंड uptet, एंड टीचिंग रिलेटेड एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण हैं l what-is-speach-disorder-in-children?

भाषा विकार के प्रकार ( What is Speach Disorder in children? एंड type of speech disorder ) :-

(1) तुतलाना (Hisping) बोलने की प्रक्रिया में किसी शब्द के सही अक्षर या किसी दूसरे अक्षर द्वारा प्रतिस्थापन करने को तुतलाना कहा जाता है तुतलाने का दोष जबड़े, दांत, होठ आदि में कुछ विकृतियाँ होने के कारण होता हैl जैसे इस भाषाविकार मे बालक ल अक्षर का प्रतिस्थापन र से कर देता है l

(2) अस्पष्ट उच्चारण करना (Slurring) :- किसी शब्द का स्पष्ट उच्चारण करना भी एक प्रकार का प्रमुख भाषा विकार माना जाता हैl अक्सर यह देखा गया कि बालक संवेगात्मक उत्तेजना की स्थिति में भी बालक जल्दी जल्दी बोलना प्रारंभ कर देते हैं और वे अक्सर शब्दों का अर्थ स्पष्ट उच्चारण करते हैं

(3) हकलाना (stammering ) :- हकलाना एक आवर्तीपूर्ण तथा बार-बार दोहराने वाली बोली को कहा जाता है यह अक्सर मांसपेशियों तथा स्वाँस के असामंजस्य कारण उत्पन्न होती है l

(4) क्षिप्रोउच्चारण दोष या संकुल ध्वनि (Cluttering) :- ऐसी ध्वनियाँ जो काफी तीव्र होती है तथा अव्यवस्थित होती है उन्हें संकुल ध्वनियाँ कहा जाता है l क्षिप्रोउच्चारण दोष या संकुल ध्वनि (Cluttering) भाषा विकार को बालक ध्यान देकर दूर कर सकता है l

(5) स स करना (Hissing) :- इसमें बालक शब्दो को उच्चारण करते समय बार बार श श कि अनावश्यक ध्वनियाँ निकलता हैं l मनोवैज्ञानिक सरासन के अनुसार यह भाषा विकार उन बालकों में अधिक पाया जाता है जिनमें संवेगात्मक तनाव अधिक होता हैl

(6) बातचीत करने में कठिनाई ( डिफिकल्टी इन कन्वरसेशन ): इसमें बालक किसी से अक्सर अजनबी व्यक्ति से या पब्लिक प्लेसेस मे बात करने से घबराता हैं वह समझ नही पता कि बात को शुरू कैसे कि जाए l अपने को ठीक ढंग से अभव्यक्त नही कर पता हैं l

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *